कभी लाल किले का रंग हुआ करता था सफेद, जानें इससे जुड़े ऐसे ही खास फैक्ट्स

लाल किला भारत की प्रमुख ऐतिहासिक इमारतों में से एक है। आजादी मिलने के बाद देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने इसी किले की प्राचीर से पहली बार देश के नाम संबोधन दिया था। तब से हर साल लाल किले पर ही आजादी का जश्न मनाया जाता है। इस किले का निर्माण पांचवें मुगल बादशाह शाहजहां ने कराया था। इसी किले में करीब 200 साल तक मुगल परिवार के वंशज रहे। साल 2007 में इस किले को यूनेस्को ने विश्व धरोहर की सूची में शामिल कर लिया। लाल किले के बारे में एक बात ज्यादातर लोगों को नहीं पता है, वो ये कि इसका असली रंग लाल नहीं है, बल्कि सफेद है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Read more: https://www.bhaskar.com/indian-national-...

Actual news in your location