#Did you know: प्रेग्नेंसी के 20वें हफ्ते में ही बच्चे को मिल जाते हैं ये Rights

18 साल से कम उम्र के ह्युमन बीइंग को भारत में चाइल्ड माना गया है। गवर्नमेंट के साथ ही हर पैरेंट्स की यह जिम्मेदारी है कि वे बच्चे को डेवलप करें। बच्चों को कुछ अधिकार दिए गए हैं। जैसे, प्रेग्नेंसी के 20वें हफ्ते से ही बच्चे को सर्वाइवल का अधिकार मिल जाता है। आज हम बच्चों को मिले ऐसे अधिकारों की जानकारी दे रहे हैं, जो सभी को मालूम होना चाहिए। यूनाइटेड नेशन ने चाइल्ड राइट्स कंवेनशन जारी किया है। इस पर सभी देशों ने हस्ताक्षर किए हैं। भारत भी उनमें से एक है। इसके अलावा भारतीय संविधान ने भी बच्चों की हिफाजत के लिए कई डायरेक्शंस दिए हैं। यदि इन्हें फॉलो नहीं किया गया तो संबंधित व्यक्ति के खिलाफ कानूनी के मुताबिक कार्रवाई हो सकती है।
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Read more: https://www.bhaskar.com/indian-national-...

Actual news in your location


Similar news

Chhattisgarh: All you need to know about poll bound State 0 0 0
Thugs of Hindostan Box Office Collection Day 4: Aamir Khan's movie slows down as it enters Rs 100 crore club 15 15 666
Ananth Kumar, a man who never lost an election in 22 years 0 0 0
UP: Man who built ‘mini Taj Mahal’ in memory of wife dies in road accident 0 0 666
UP: Man who built ‘mini Taj Mahal’ in memory of wife dies in road accident 0 0 0
Under domestic violence act, father can seek visitation rights 0 0 666
Under domestic violence act, father can seek visitation rights 0 0 666
Under domestic violence act, father can seek visitation rights 0 0 666
Under domestic violence act, father can seek visitation rights 0 0 0
Under domestic violence act, father can seek visitation rights 0 0 0