SC के चार जजों ने CJI को लिखा था 7 पन्नों का लेटर, कहा- SC के कुछ फैसलों ने उल्टा असर डाला

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट के चार जस्टिस शुक्रवार को पहली बार मीडिया के सामने आए और कहा कि सुप्रीम कोर्ट में एडमिनिस्ट्रेशन का काम  ठीक से नहीं हो रहा है। जजों ने एक चिट्ठी जारी की, जिसमें कहा गया, "माननीय चीफ जस्टिस (CJI), बेहद दुख और चिंता के साथ हम आपके सामने ये बात रखना चाहते हैं कि इस कोर्ट (SC) के कुछ फैसलों ने पूरी न्याय व्यवस्था और हाईकोर्ट्स की स्वतंत्रता पर उल्टा प्रभाव  डाला और माननीय CJI के ऑफिस के कामकाज पर भी असर डाला।"     CJI को लिखी चिट्ठी में और क्या मसले उठाए गए, 4 प्वाइंट   1) हाईकोर्ट्स की परंपराएं स्थापित थीं - CJI को जस्टिस जे चेलामेश्वर, जस्टिस रंजन गोगोई, जस्टिस मदन बी लोकुर, जस्टिस कुरियन जोसेफ ने खत लिखा। - जजों ने कहा, "विशेषाधिकार वाले कलकत्ता, बॉम्बे और मद्रास हाईकोर्ट की स्थापना के समय से ही न्यायिक व्यवस्था की परंपराएं और  दस्तूर अच्छी तरह स्थापित थे। ये परंपराएं इस कोर्ट (SC) ने अपनाईं, जो इन हाईकोर्ट्स के बनने के करीब सौ सालों बाद अस्तित्व में आई।"   2) CJI सभी बराबर के साथियों में प्रथम, ऊपर या नीचे नहीं - "ये निश्चित और तय...
आज की ताज़ा ख़बरें पढ़ने के लिए दैनिक भास्कर ऍप डाउनलोड करें

Read more: https://www.bhaskar.com/indian-national-...

Actual news in your location